Sale!

Valampuri Dakshinavarti Shankha

Original price was: ₹2,500.00.Current price is: ₹1,100.00.

दक्षिणावर्ती वालमपुरी शंख एक मंगलकारी शंख है। ऐसा माना जाता है कि यह शंख जीवन में धन, समृद्धि और शांति लाता है। इस शंख की पूजा करने वाले व्यक्ति के भीतर से सारे नकारात्मकता भी दूर हो जाती है। शास्त्रों के अनुसार, दक्षिणावर्ती शंख हिंदू आध्यात्मिक अनुष्ठानों में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। दक्षिणावर्ती शंख का प्रयोग तांत्रिक प्रयोगों में व्यापक रूप से किया जाता है। तंत्र शास्त्र के अनुसार, दक्षिणावर्ती शंख में जल रखने से व्यक्ति सभी समस्याओं से मुक्त हो जाता है।

Category:

Description

दक्षिणावर्ती शंख वे शंख होते हैं जो दाहिने हाथ की ओर खुलते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस प्रकार का शंख धन और समृद्धि का प्रतिनिधित्व करता है। शाखाओं की ये शैलियाँ गहरे समुद्र में पाई जाती हैं और अत्यंत दुर्लभ हैं। दक्षिणावर्ती शंख को किसी भी पवित्र स्थान या पूजा स्थल पर रखना बहुत शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह शंख सौभाग्य और समृद्धि लाता है। साथ ही, यह सभी नकारात्मक ऊर्जाओं को दूर करने के लिए भी जाना जाता है।

दक्षिणावर्ती शंख माता लक्ष्मी के स्वरूप का प्रतिनिधित्व करता है। यह प्रसिद्धि और सफलता का प्रतीक है। इस शंख की पूजा करने से व्यक्ति का जीवन सफल और समृद्ध बनता है। इससे व्यापार में सफलता मिलती है। ऐसा माना जाता है कि दक्षिणावर्ती शंख से सूर्य को जल देने से आंखों की समस्या दूर हो जाती है। यह भी माना जाता है कि यदि आप इस शंख में पानी भरकर अंधेरे के समय अपने बिस्तर के पास रखते हैं, तो आपके घर में हमेशा शांति का माहौल बना रहता है।

दक्षिणावर्ती शंख में स्वच्छ जल भरकर किसी व्यक्ति, स्थान या वस्तु पर छिड़कने से दुर्भाग्य और बुरे समय से छुटकारा मिलता है। घर में दक्षिणावर्ती शंख को पूरे विधि-विधान से स्थापित करके उसकी पूजा करने से घर में मां लक्ष्मी का वास होता है। पूजा घर में दाहिनी ओर शंख रखकर उसकी विधिवत पूजा करने से घर की आर्थिक स्थिति अच्छी रहती है और परिवार में आपसी प्रेम का माहौल अच्छा बना रहता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार शंख में कई ऐसे गुण होते हैं, जो घर में सकारात्मक ऊर्जा लाते हैं।

दक्षिणावर्ती शंख को स्थापित करने से पहले उसका शोधन कर लेना चाहिए। इसे बुधवार या सप्ताह के किसी दिन शुभ मुहूर्त में दूध, गंगा जल, धूप, दीप, पंचामृत आदि से शुद्ध करना चाहिए। इसे चांदी के चौकी पर रखी लाल कलाकृति पर अखंडित करना चाहिए। खुला सिरा आकाश की ओर होना चाहिए और दूसरा सिरा आपकी ओर होना चाहिए। यह शंख चावल और लाल धागे से भरा होना चाहिए। यह शंख दरिद्रता से मुक्ति दिलाता है तथा यश, सफलता, समृद्धि आदि प्रदान करता है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Valampuri Dakshinavarti Shankha”